Google AdSense Vs Affiliate Marketing | Which One is Best for You in Hindi

हेलो दोस्तों, Google AdSense और Affiliate Marketing , दोनों ही इन्टरनेट से ऑनलाइन पैसे कमाने का Top और Best तरीका है। ब्लॉग , वेबसाइट , YouTube पर ऐडसेंस और एफिलिएट मार्केटिंग के द्वारा अच्छे पैसे कमाया जा सकता है। और ये दोनों आज के समय में ब्लॉग , वेबसाइट , YouTube पर पैसे कमाने के लिए main source बन चुके है। हालाँकि , इसके अलावा और भी विकल्प है , लेकिन ये दोनों टॉप , बेस्ट और पुपोलर तरीका है। बहुत से लोग इनसे अच्छी इनकम कर रहे है। और बहुत से लोग struggle भी कर रहे है। काफी लोग confuse है कि इन दोनों में से बेहतर कौनसा है। 

Google AdSense Vs Affiliate Marketing | Which One is Best for You in Hindi

अगर आप भी एक ब्लॉगर है। या आपकी कोई वेबसाइट है। या YouTube Channel है। तो आपके मन में भी ये सवाल जरूर होगा कि ऐडसेंस और एफिलिएट मार्केटिंग में बेस्ट कोनसा है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्यूंकि आपके इस सवाल का जवाब आपको इस पोस्ट में मिल जायेगा। आज मैं आपको इस पोस्ट में बताऊंगा कि गूगल ऐडसेंस और एफिलिएट मार्केटिंग में बेस्ट कोनसा है। या आपके लिए बेहतर कोनसा है। मैं आज Google AdSense Vs Affiliate Marketing कोनसा है बेस्ट ? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। 




आज भी बहुत से ऐसे लोग है जो इन्टरनेट से पैसे कमाने को Fake समझते है। लेकिन सत्य ये है की बहुत से लोग ब्लॉग्गिंग और YouTube से लाखों कमा रहे है। हाँ , ये बात अलग है कि कुछ लोगों को जल्दी सक्सेस मिल जाती है। और कुछ लोग लम्बे समय तक struggle करते है। और कुछ लोगो को इसमें सक्सेस नहीं मिलती है। लेकिन जो लोग ब्लॉग्गिंग , YouTube या वेबसाइट के जरिये कमाई कर रहे है , उनके मन में हमेशा सवाल होता है कि ऐडसेन्स और एफिलिएट मार्केटिंग में कोनसा अच्छा है। 



Google AdSense Vs Affiliate Marketing | कोनसा है बेहतर ?


अब मैं आपको बताऊंगा Google AdSense और Affiliate Marketing में कोनसा है आपके लिए बेहतर। यहाँ पर मैं आपको ऐडसेन्स और एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे और नुकसान के बारे में बताऊंगा। सबसे पहले ऐडसेन्स और एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में थोडा से समझाऊंगा और उसके बाद दोनों के फायदे और नुकसान के बारे में बताऊंगा। आप पोस्ट को पूरा पढने के बाद समझ जायेंगे , कि दोनों में से आपके लिए कोनसा है बेस्ट। 





Google AdSense - Hindi Overview


Google AdSense , गूगल के द्वारा बनाया गया एक Advertising प्रोग्राम है। ऐडसेन्स के जरिये आप अपने साईट पर Text , Display , Link , Image , Video और Interactive Media Advertisement लगा कर पैसे earn कर सकते है। ऑनलाइन पैसे कमाने के मामले में गूगल ऐडसेंस फेमस , पोपुलर और सबसे ज्यादा यूज़ होने वाला advertising प्रोग्राम है। 


AdSense से पैसे कमाने के लिए जरूरी है कि आपके पास एक ब्लॉग , वेबसाइट या YouTube चैनल हो। सबसे पहले आपको ऐडसेन्स पर अकाउंट बनाना होता है। और उसके बाद आप अपने साईट पर एड्स लगा सकते है। एड्स लगाने के बाद से ही आपकी earning start हो जाती है। AdSense बहुत ज्यादा strict है इसलिए एड्स लगाने से पहले आप AdSense की Policy एक बाद जरूर पढले। 

ऐडसेन्स को बहुत सी कंपनी अपने प्रोडक्ट प्रमोट करने के लिए ऐड करने को देती है। गूगल इसके बदले में उन कंपनी से commission लेती है। और फिर गूगल उस commission में से publisher को 65% दे देता है। गूगल इतने ज्यादा ऐड ऑफर करता है कि आपकी साईट किसी भी टॉपिक पर हो , उसके लिए ऐड मिल ही जाता है। इसका ध्यान गूगल खुद रखता है। इसके लिए publisher को कुछ नहीं करना है। 




Google AdSense यूज़ करने के फायदे


1) गूगल ऐडसेन्स ads per click पर काम करता है। यानी कि ads पर per click के पैसे मिलते है।


2) किसी भी प्रोडक्ट को sell करने की जरूरत नहीं है। एड्स पर क्लिक होने पर पैसे मिल जाते है।

3) बेस्ट selling प्रोडक्ट या किसी ऐड को सर्च करने लगाने की जरूरत नहीं है। गूगल ये खुद करता है।

4) कोई भी व्यक्ति जिसके पास एक वेबसाइट , ब्लॉग या यूटूब चैनल है। वो ऐडसेन्स के लिए अप्लाई कर सकता है। 

5) गूगल आपके साईट की कन्टेन्ट और विजिटर की पसंद के हिसाब से एड्स दिखता है।

6) आपको अपने साईट पर पोस्ट और ट्रैफिक इनक्रीस करना है। जितने ज्यादा ट्रैफिक उतनी ज्यादा इनकम।





Google AdSense यूज़ करने के नुकशान


1) ऐडसेन्स एड्स लगाने से साईट की स्पीड slow हो जाती है।

2) आप किसी perticular प्रोडक्ट की ऐड नहीं चुन सकते।

3) ऐडसेन्स एड्स को ऑप्टिमाइज़ नहीं किया जा सकता।

4) ऐडसेन्स की पालिसी और रूल्स बहुत ज्यादा सक्त है।

5) गूगल आपको पालिसी violation करने पर banned कर सकता है।

6) एक छोटी सी गलती होने पर भी गूगल आपकी ऐडसेन्स अकाउंट को बंद कर सकता है।

7) ऐडसेन्स यूज़ करने पर आप किसी दुसरे advertising प्रोग्राम को यूज़ नहीं कर सकते।

8) इसमें आपको कोई ईमेल सपोर्ट नहीं मिलता है। 

9) ऐडसेंस की एड्स की वजह से आपके विसिटर्स को disturbance हो सकता है। इससे आपकी साईट की ट्रैफिक भी down हो सकती है। 





ये थे गूगल ऐडसेन्स के फायदे और नुकसान। आपको बता दें कि, कोई भी चीज परफेक्ट नहीं होती है। किसी भी चीज के फायदे है तो उसके नुकसान भी जरूर होंगे। ऐडसेन्स की बहुत सी कमियां है। लेकिन उसके बावजूद ये सबसे अच्छा और बेस्ट है। चलिए अब बात करते है एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में। 



Affiliate Marketing - Hindi Overview


एफिलिएट मार्केटिंग क्या है ? इस पर मैंने पहले ही एक पोस्ट में बता दिया है। आप चाहे तो उस पोस्ट को पढ़ सकते है। एफिलिएट मार्केटिंग , गूगल ऐडसेन्स के बिलकुल उल्टा है। इसमें कम्पनीज अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए खुद के ही ऑफिसियल वेबसाइट पर एफिलिएट प्रोग्राम चलते है। जिसे कोई भी व्यक्ति ज्वाइन कर सकता है। और अपने साईट पर उस कंपनी की ऐड लगाना होता है। इसमें एड्स पर क्लिक करने से कोई इनकम नहीं होती है। कोई भी विजिटर अगर आपके साईट से उस कंपनी के प्रोडक्ट को खरीदता है तब आपको commission मिलता है। 


Commission कितना होगा ? ये बात उस प्रोडक्ट या उस कंपनी के द्वारा तय किया जायेगा। इसमें $5 से 5000 या इससे भी अधिक तक हो सकता है। अलग अलग सेक्टर्स की बहुत सी कम्पनीज है जो एफिलिएट प्रोग्राम प्रोवाइड कराती है। जैसे :- Webhosting , Domain Provider , Template Provider , Amazon , Shaadi.com , MakeMyTrip , Etc. आप अपने साईट की टॉपिक और कन्टेन्ट के हिसाब से एफिलिएट प्रोग्राम सेलेक्ट कर सकते है। 


इसमें आपको पहले उस कंपनी के एफिलिएट प्रोग्राम साईट पर जा कर रजिस्ट्रेशन करना है। उसके बाद आप उस कंपनी के एफिलिएट प्रोग्राम के साथ ज्वाइन हो जायेंगे। अब आप उस कंपनी के एड्स अपने साईट पर लगा सकते है। कोई भी विजिटर आपके साईट से उस कंपनी की किसी भी प्रोडक्ट को खरीदता है। तो आपको उसके बदले में commission दिया जायेगा। 

किसी भी कंपनी के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए आपको उसके एफिलिएट सर्विस साईट वाले पेज में जाना है। उसके लिए आपको गूगल में कंपनी के नाम के आगे एफिलिएट लिख कर सर्च करेंगे तो उन कंपनी की एफिलिएट सर्विस पेज का लिंक आपको मिल जायेगा। जैसे :- "Amazon Affiliate" इस तरह से आपको गूगल में सर्च करना है। इसके अलावा अगर आपके साईट में per day 5000+ views आते है। तो आपके लिए एफिलिएट मार्केटिंग सही है। अगर आप नए है ,और आपके साईट पर विसिटर्स कम है तो एफिलिएट प्रोग्राम से आपको फायदा नहीं मिलने वाला। 




Affiliate Marketing यूज़ करने के फायदे


1) आप अपने कन्टेन्ट के हिसाब से कोई भी ऐड खुद चुन सकते है। 

2) अगर आप किसी प्रोडक्ट के बारे में लिख रहे है। तो आप perticular उस प्रोडक्ट की ऐड भी लगा सकते है।

3) इसमें आप लम्बे समय तक पैसे कम सकते है। पोपुलर होने के बाद आपकी इनकम और बढ़ जाएगी।

4) इसमें आपको एक प्रोडक्ट पर $5 से 5000 तक commission मिलता है।

5) कम समय में ज्यादा इनकम कर सकते है। 

6) साईट में कम ट्रैफिक के बावजूद आप अच्छी इनकम कर सकते है। लेकिन selling जरूरी है।

7) इसमें आपको कोई banned नहीं कर सकता है। आप अपने हिसाब से साईट को monetise कर सकते है। 




Affiliate Marketing यूज़ करने के फायदे


1) इसमें सक्सेस होने के लिए मार्केटिंग knowledge और experience जरूरी है। 

2) आपके पास targeted और trusted ट्रैफिक होनी चाहिए। 

3) selling पर ही इनकम होगी। ads क्लिक पर कुछ नहीं मिलेगा। 

4) अच्छी earning के लिए अपने विसिटर्स की पसंद को समझना जरूरी है। 

5) रोज 5000+ ट्रैफिक आने से ही फायदे होंगे। कम ट्रैफिक से ज्यादा sell नहीं मिलेंगी। 

6) आप रोज एक जैसी इनकम नहीं कर सकते। हो सकता है किसी दिन $1,00,000 कमा ले। और हो सकता है किसी दिन $1 भी न कमा सके। 

7) आपको अच्छी कमाई के लिए अपने विसिटर्स के साथ trust relation बनाये रखना है और बेहतर प्रोडक्ट को प्रमोट करना है। 



तो दोस्तों, ये थी एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे और नुकशान। अब आप समझ गए होंगे , दोनों में आपके लिए कोनसा बेहतर है। अगर अभी भी थोड़ी बहुत confusion है तो आगे पढ़िए। आपकी साड़ी confusion दूर हो जाएगी। ये बात सही है , की आप एफिलिएट मार्केटिंग में हर दिन एक जैसी इनकम नहीं कर सकते। पर ऐडसेन्स की तुलना में ज्यादा उम्मीद रख सकते हो। चलिए अब मैं आपको इन दोनों में difference बताता हूँ। 




Google AdSense और Affiliate Marketing में क्या Difference है ?


1) AdSense में आपको सिर्फ एक बार अकाउंट बनाना होता है। पर Affiliate Marketing में आपको अलग अलग कंपनी के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए अकाउंट बनाना होता है।

2) AdSense में pay per click पर इनकम होती है। लेकिन Affiliate Marketing में selling पर इनकम होती है। 

3) AdSense की earning को डायरेक्ट बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर कर सकते है। पर Affiliate Marketing की earning को withdrawal करने के लिए कई ऑप्शन होते है। 

4) AdSense से ऑटो ऐड इनकम होती है। पर Affiliate Marketing में प्रोडक्ट को प्रमोट कर पर इनकम होती है। 

5) AdSense में Low ट्रैफिक से इनकम नहीं कर सकते है। लेकिन Affiliate Marketing में कर सकते है।

6) AdSense के लिए Organic ट्रैफिक जरूरी है। और Affiliate Marketing के लिए Trageted ट्रैफिक।

7) AdSense के लिए ट्रैफिक जरूरी है। लेकिन Affiliate Marketing के लिए यूजर ट्रस्ट ज्यादा जरूरी है।

8) AdSense हमारे कन्टेन्ट के अनुसार एड्स show करता है। पर Affiliate Marketing में हमें अपने कन्टेन्ट के हिसाब से manually ऐड सर्च करना होता है। 



दोनों में बहुत difference है। दोनों के अलग अलग काम है। और अलग अलग फायदे और नुकशान है। अब ये आपको decide करना है कि आपके लिए कोनसा बेहतर है। दोनों के फायदे और नुकसान आपके सामने है। आप अपने ट्रैफिक , कन्टेन्ट , और टॉपिक के अनुसार चुन सकते है कि आपके लिए क्या बेस्ट रहेगा। 




तो दोस्तों , उम्मीद करता हूँ कि अब आपको दोनों में से किसी एक को चुनने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी। आप आसानी से अपने लिए बेस्ट ऑप्शन चुन सकते है। अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल या confusion है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है। हम आपके सभी कमेंट का रिप्लाई जरूर करते है। पोस्ट पसंद आई हो तो please इस पोस्ट को सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें। इसके अलावा Tech Hindi Gyan को Follow करके हमारे सभी नए पोस्ट की Notification प्राप्त कर सकते है। 




Thanks    /    धन्यवाद
☺☺☺☺☺☺☺☺☺




सम्बंधित पोस्ट :

Google AdSense Vs Affiliate Marketing | Which One is Best for You in Hindi Google AdSense Vs Affiliate Marketing | Which One is Best for You in Hindi Reviewed by Altamaz Ahmed on Sunday, August 05, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.