ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण कैसे करें? Online Property Registration Process? Online Registry of Land Property

हेलो दोस्तों, TechHindiGyan में आपका स्वागत हैं। अगर आप अपना खुद का घर खरीदना चाहते हैं, और जानना चाहते हैं, कि ऑनलाइन जमीन या घर का पंजीकरण कैसे करते हैं। (Online Property Registration Process) तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पढ़ रहे हैं, क्यूंकि आज हम इस पोस्ट में ऑनलाइन प्रॉपर्टी, जमीन या घर कि रजिस्ट्रेशन करना सीखेंगे। और इसके अलावा घर खरीदते वक़्त ध्यान देने योग्य बाते भी जानेंगे। 
ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण कैसे करें? Online Property Registration Process? Online Registry of Land Property

ऑनलाइन जमीन या घर का रजिस्ट्रेशन कैसे करे? ऑनलाइन जमीन कि रजिस्ट्री कैसे करे? ये तो हम इस पोस्ट में सीखेंगे ही, साथ ही नई जमीन या घर खरीदने कि पूरी प्रक्रिया भी जानेंगे। Registry कि नियम भी सीखेंगे। और हम यह सभी आपको बिलकुल आसान और सरल भाषा / सब्दों में समझायेंगे। आशा करते हैं कि आपको हमारे सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। आप हमें निचे कमेंट के जरिये अपना बहुमूल्य Feedback भी दे सकते हैं।

लगभग सभी का यह सपना होता हैं, कि उनका भी अपना  या आप धोखा भी खा सकते हैं। इसलिए आपको पता होना चाहिए, कि जमीन या मकान कि ऑनलाइन रजिस्ट्री कैसे होती हैं, और इसके नियम कानून क्या हैं। 



Property का Registration क्यों जरूरी हैं?

Registration Act. 1908 की Section 17 के तहत सभी अचल संपत्ति (Immovable Assets) जिनकी कीमत Rs. 100 /- या उससे ज्यादा की हो, उसकी खरीद और बिक्री पर रजिस्ट्रेशन होना अनिवार्य हैं। जब आप अचल संपत्ति को खरीदते हैं, तो आप उस संपत्ति के मालिक बन। पर लिखित प्रमाण का होना भी जरूरी होता हैं। जिसके कारण आपको उस संपत्ति पंजीकरण करना आवश्यक हैं। ताकि भविष्य में अगर आप कभी अपने संपत्ति को बेचना चाहे तो, आप उस संपत्ति के मालिक होने का प्रमाण प्रस्तुत कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आप अपने संपत्ति का पंजीकरण कराते हैं, तो आप कभी भी अपने संपत्ति को किराये पर उठा सकते हैं, अपने संपत्ति को लीज (Lease) पर दे सकते हैं। या बेच भी सकते हैं। 

Property Registration कैसे कराये?

प्रॉपर्टी खरीदने या बेचने से पहले आपको प्रॉपर्टी के रजिस्ट्रेशन कि पूरी प्रक्रिया को समझना बहुत जरूरी हैं। प्रॉपर्टी का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन तो बहुत आसान हैं, पर सिर्फ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से पूरी प्रक्रिया complete नहीं होती हैं। उसके बाद भी इसमें बहुत से process होते हैं। जिसके बारे में आपको पता होना जरूरी हैं।

1) संपत्ति का मूल्य पता करे? (Property कि Value निकले)

जब आप कोई संपत्ति खरीदने या बेचने का सोचते हैं, तो सबसे पहला काम उस संपत्ति कि वास्तविक मूल्य जानना होता हैं। सबसे पहले पता करना होता हैं कि उस संपत्ति कि बाज़ार मूल्य (Market Value) क्या हैं। और साथ में यह भी पता करे कि उस क्षेत्र में जमीन कि सरकारी मूल्य (Government Value) क्या हैं। संपत्ति का मूल्य पता करना बहुत ज्यादा आवश्यक हैं, क्यूंकि रजिस्ट्री के समय स्टैम्प पेपर कि आवश्यकता पढ़ती हैं। जिसमे उस संपत्ति कि मूल्य का विवरण लिखा जाता हैं।

2) स्टैम्प ड्यूटी पेपर बनवाए

उसके बाद आपको स्टैम्प ड्यूटी पेपर खरीदना होता हैं। स्टैम्प ड्यूटी पेपर पूरी तरह से कानूनी दस्तावेज होते हैं। और इस बात का सबूत होता हैं, कि आप ही इस प्रॉपर्टी के असल मालिक हैं। इसलिए स्टैम्प पेपर खरीदना बहुत ज्यादा जरूरी होता हैं। स्टैम्प पेपर को आप Stamp.com से भी ऑनलाइन खरीद सकते हैं। इसके अलावा  स्टैम्प पेपर खरीदने के लिए आपको कोर्ट जाना होगा। स्टैम्प ड्यूटी पेपर का मूल्य हर राज्य में अलग अलग होते हैं।

3) Property Registration के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रॉपर्टी कि रजिस्ट्री के लिए आपको जरूरी दस्तावेज भी देने होते हैं। वे कौन कौन से दस्तावेज होते हैं, जिनकी जमीन या माकन खरीदने या बेचने के समय जरूरत पढ़ती हैं। तो चलिए जान लेते हैं :

i) बैनामा
ii) पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी (Power of Attorney) / मुख़्तार नामा / अधिकार पत्र
iii) अलॉटमेंट लेटर (Allotment Letter)
iv) संपत्ति कर कि रसीद ( Property Tax कि रसीद)
v) नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (No Objection Certificate)
vi) खाता प्रमाण पत्र
vii) पहचान पत्र (आधार कार्ड / वोटर आई डी कार्ड / पैन कार्ड / राशन कार्ड)

  Read More  
>> Online FIR Register कैसे करें | ऑनलाइन FIR कैसे दर्ज करते हैं | पूरी जानकारी हिन्दी में

4) Sub Registrar के पास जाना हैं

अब आपको Sub Registrar के पास जाना हैं। लेकिन उससे पहले आपको अपने संपत्ति का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के बाद, उसकी प्रिंटआउट निकाल कर आपको अपने सभी दस्तावेजों और दोनों पक्षकारो के साथ उप पंजियन अधिकारी (Sub Registrar) के पास जाना हैं। और साथ में 2 गवाह कि भी जरूरत पढ़ती हैं, इसलिए उन्हें भी उनके पहचान पत्र साथ लेकर जाना होगा।

डॉक्यूमेंट जमा करने पर आपको एक रसीद मिलेगी जिसमे अगली तारिक लिखी होगी। आपको उस तारिक को उप पंजियन अधिकारी (Sub Registrar) के ऑफिस जाना होगा। यहाँ से आपको रजिस्ट्री के documents मिल जायेंगे। तो इस तरह से आप अपने जमीन या माकन कि रजिस्ट्री करा सकते हैं। तो चलिए अब समझते हैं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने का क्या process हैं।

संपत्ति / प्रॉपर्टी खरीदते समय ध्यान देने वाली बातें?

घर खरीदते समय आपको कुछ अहम बातों का ध्यान रखना चाहिए। घर खरीदने का निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेना चाहिए, ऐसा करने से आप मुसीबत में भी आ सकते हैं। इसलिए घर खरीदने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। तो चलिए जान लेते हैं उन आवश्यक बातों को जिनका ध्यान आपको घर खरीदते समय रखना चाहिए :-



1) सबसे पहले आप जिस भी कंपनी या एजेंट ब्रोकर से घर, जमीन या प्लाट खरीद रहे हैं उसका पूरा बैकग्राउंड जान ले। उसने अब तक कितने घर, जमीन और प्लाट बेचे हैं।
2) आप जो भी प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं सबसे पहले उसकी मार्केट वैल्यू पता कर लें। उस प्रॉपर्टी का मार्केट में क्या भाव है यह आपके लिए जान लेना बहुत जरूरी है। क्योंकि हर प्रॉपर्टी की मार्केट वैल्यू एरिया के अनुसार अलग अलग होती है।
3) कभी भी विज्ञापन को देखकर घर या जमीन ना खरीदें। विज्ञापनों से हमेशा बचना चाहिए, बहुत से लोग इंटरनेट पर और pumplet छपवाकर अपने प्रॉपर्टी घर और जमीन को बेचने का प्रचार करते हैं। और ज्यादा लालच देते हैं। तो इसलिए हमेशा इनसे बचें।
4) घर खरीदने से पहले आपको इसके नियम और कानून की पूरी जानकारी ले लेना चाहिए। क्योंकि हर राज्य और शहरों के प्रॉपर्टी रजिस्ट्री के नियम अलग-अलग होते हैं। तो इसलिए आप पहले ही इन नियमों को अच्छे से जान ले, यही आपके लिए बेहतर होता है।
5) सबसे जरूरी बात, प्रॉपर्टी खरीदते वक़्त आपको ये जान लेना चाहिए की प्रॉपर्टी किसके नाम पर है, और इसका असली मालिक कौन है। और यह भी सुनिश्चित करले की जमीन, मकान या प्लाट जो आप खरीद रहे हैं उसका कोई कोर्ट केस तो नहीं चल रहा है।

  Read More  
>> PACL Refund Process in Hindi | Pearls Refund All Investors Money
>> Policy Bazaar Kya Hai ? Poori Jankari Hindi Me

Online Property Registration कैसे करें?

Online Property Registration का process बहुत आसान हैं, बस आपको समझना हैं। ऑनलाइन संपत्ति कि रजिस्ट्री करने के लिए सबसे पहले आपको स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग (निबन्धन विभाग) कि आधिकारिक वेबसाइट www.igrsup.gov.in पर जाना हैं। यह उत्तर प्रदेश के निबन्धन विभाग कि Official Website हैं। हर राज्य में इसकी अलग साईट होती हैं।

1) सबसे पहले आपको अपने राज्य या सहर के स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग (निबन्धन विभाग) कि आधिकारिक वेबसाइट www.igrsup.gov.in पर जाना हैं। ध्यान दें कि ये उत्तर प्रदेश कि संपत्ति पंजीकरण कि आधिकारिक वेबसाइट हैं। अगर आप किसी दुसरे राज्य से हैं, तो वहां कि वेबसाइट दूसरी होगी।

2) अब "सम्पत्ति पंजीकरण" के अंदर "आवेदन करें" पर क्लिक करें।

Uttar Pradesh Online Property Registration Website
3) "आवेदन करें" पर क्लिक करते ही, आपके सामने "लेखपत्र पंजीकरण - लोगिंग बनाये" पेज ओपन होगा। जिसमे आपको अपने जनपत, तहसील, उपनिबंधक, मोबाइल नंबर, पासवर्ड और कैप्चा डालना हैं। उसके बाद "आगे बढ़ाये" बटन पर क्लिक कर दीजिये।
Online Property Registration - Fill Your Details for Login
4) इसके बाद आपके स्क्रीन पर "लेखपत्र प्रस्तुतकर्ता का विवरण" पेज ओपन होगा। जिसमे क्रेता, विक्रेता और संपत्ति का विवरण लिखना हैं। इस पेज पर आते ही आपका एक Registration No. allot हो जायेगा। जिसे आपको भविष्य के लिए कहीं सुरक्षित जगह पर लिख लेना हैं।

5) यहाँ पर आपको क्रेता का नाम (हिन्दी और अंग्रेजी दोनो में), मोबाइल नंबर, ईमेल, इत्यादि डालना हैं।
6) सभी detail fill करने के बाद "आगे बढे" पर क्लिक कर दीजिये।

Online Property Registration - Fill Your Details
7) अब आपको इस पेज में अपने संपत्ति और उसके शुल्क का विवरण डालना हैं।
8) यहाँ पर आपको अपने संपत्ति का प्रकार, संपत्ति का बाजारी मूल्य, स्टाम्प शुल्क, इत्यादि का विवरण देना हैं। उसके बाद "सुरक्षित करें" पर क्लिक कर दीजिये।

Online Property Registration - लेखपत्र का पंजीकरण
9) "सुरक्षित करें" पर क्लिक करते ही, आपका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हो जायेगा।
10) पर इसके बाद 2 स्टेप और हैं, जिसमे आपको क्रेता के बारे में पूरा विवरण और विक्रेता के बारे में पूरा विवरण देना होगा हैं। मेरे पास कोई Property नहीं हैं रजिस्ट्रेशन करने के लिए, ये स्क्रीनशॉट मेने सिर्फ आपको समझाने के लिए DEMO के तौर पर इस्तेमाल किया हैं। इसलिए मैं आपको आगे कि प्रक्रिया करके नहीं दिखा सकता। पर आप निचे दी गयी विडियो को देख कर आसानी से आगे कि प्रक्रिया को कर सकते हैं।

  Read More  
>> घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाने के 5 आसान तरीके
>> YouTube Vs Blogging क्या है बेहतर ? और किस्मे है ज्यादा पैसे ?
>> Students के लिए Online पैसे कमाने के Top 5 Best तरीके

Online Property Registration से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल (FAQ)

Ques 1) क्या ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने पर हमें रजिस्ट्रेशन के लिए कार्यालय नहीं जाना पड़ेगा?
Ans - नहीं, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने पर आपको अपने सम्बंधित जनपद, तहसील और कार्यालय चुनना होगा। जिसके बाद आपको सम्बंधित कार्यालय में पक्षकारो का बयान, फोटो तथा अंगूठे के निसान के लिए जाना पड़ेगा।

Ques 2) क्या रजिस्ट्रेशन करने के बाद हम इसका ऑनलाइन वेरिफिकेशन कर सकते हैं?
Ans - हाँ, ऑफिसियल वेबसाइट पर "संपत्ति खोजे" विकल्प चुनकर आप रजिस्टर किये गए संपत्ति का विवरण ऑनलाइन देख सकते हैं।

Ques 3) क्या बैनामों में इस्तेमाल होने वाले स्टाम्प और रजिस्ट्रेशन शुल्क का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकता हैं?
Ans - नहीं, बैनामो में इस्तेमाल होने वाले स्टाम्प शुल्क, स्टाम्प पेपर अथवा ई-स्टाम्प के माध्यम से तथा रजिस्ट्रेशन फीस कार्यालय में नगद जमा कर सकते हैं।

Ques 4) क्या चेक के माध्यम से रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान किया जा सकता है?
Ans - नहीं।

Ques 5) ई-स्टाम्प क्या हैं?
Ans - ई-स्टाम्प का तात्पर्य एक ऐसे स्टाम्प से हैं, जो इलेक्ट्रॉनिक रूप से विशिष्ट पेपर पर तैयार किया जाता है। यह कंप्यूटर द्वारा ऑनलाइन प्राप्त किया जाता है। ई-स्टाम्प ₹10,000 से अधिक किसी भी मूल्य का प्राप्त किया जा सकता है।

Ques 6) ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करते समय अगर कंप्यूटर बंद हो जाए तो क्या पुन: शुरू से आवेदन करना पड़ेगा?
Ans - नहीं, अगर आपको अपना रजिस्ट्रेेशन नंबर और पासवर्ड याद है तो उससे दोबारा लॉगिन करके आप अपना रजिस्ट्रेशन कंप्लीट कर सकते हैं।

Ques 7) इंटरनेट ना होने की दशा में क्या ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है?
Ans - नहीं।

Ques 8) क्या ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, कार्यालय के बाहर किसी और स्थान से किया जा सकता है?
Ans - हाँ, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आप कभी भी कहीं से भी कर सकते हैं।

Ques 9) ऑनलाइन आवेदन के कितने दिनों बाद तक रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं?
Ans - Registration Act 1908 के अंतर्गत दस्तावेज निष्पादन के 4 माह के अंदर उसका रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

Ques 10) क्या ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए कार्यालय में निश्चित समय एलॉट करा सकते हैं।
Ans - हाँ, आप निश्चित समयावधि का चयन करने के उपरांत कार्यालय में उस अवधि में पहुंचकर रजिस्ट्रेशन की कार्यवाही कर सकते हैं।

तो दोस्तों, अब आप Online Property Registration करना सीख गए होंगे। और जमीन या मकान कि रजिस्ट्री के सभी नियम और प्रक्रिया भी जान गए होंगे। उम्मीद करता हूँ की आपको पोस्ट पसंद आई होगी। और मेरे बताये गए सभी बाते आपको समझ में भी आ गयी होंगी। अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें। इसके अलावा THG को Follow करके सभी नए पोस्ट की जानकारी लगातार प्राप्त कर सकते है।

Thanks / धन्यवाद

सम्बंधित पोस्ट :
ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण कैसे करें? Online Property Registration Process? Online Registry of Land Property ऑनलाइन संपत्ति पंजीकरण कैसे करें? Online Property Registration Process? Online Registry of Land Property Reviewed by Altamaz Ahmed on Friday, September 13, 2019 Rating: 5

No comments:

We Request to all our Lovely Viewers & Readers, Please do not put any kind of Links in the Comments.

हम अपने सभी प्यारे दर्शकों और पाठकों से अनुरोध करते हैं, कृपया टिप्पणियों में किसी भी प्रकार के लिंक न डालें।

Powered by Blogger.