आदर्नीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देशानुसार 21 दिन (यानी 14 अप्रैल) तक देश में LockDown किया गया है। आप सभी नागरिकों से निवेदन है कि अपने घरों में रहे, बाहर बिल्कुल ना निकले और अपने आस पास भी जागरूकता फैलाये !!!

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या हैं - What is Microsoft Office in Hindi - पूरी जानकारी

हेलो दोस्तों, What is Microsoft Office in Hindi? How to Download & Install it in Hindi? -  MS Office का इस्तेमाल तो आप जरूर किए होंगे। आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप हो या ना हो, कभी ना कभी स्कूल, कॉलेज या ऑफिस में आप माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के बारे में जरूर सुने होंगे और इस्तेमाल भी जरूर किया होगा। लेकिन क्या आपको पता है, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या है? इसे कब और किसने बनाया? इसका इस्तेमाल क्या है? और इसके फायदे क्या है? इत्यादि। अगर आपको इन सभी सवालों के जवाब नहीं पता या आप जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ते रहिए। इस पोस्ट में हम माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के बारे में पूरे विस्तार से हिन्दी में ज्ञान अर्जित करेंगे।
माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या हैं - What is Microsoft Office in Hindi - पूरी जानकारी
दरअसल माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस दुनिया का सबसे लोकप्रिय, प्रसिद्ध, और पॉपुलर सॉफ्टवेयर है। जिसे पूरी दुनिया में 5.6 बिलियन से भी अधिक यूजर्स इस्तेमाल करते हैं। आज के समय में स्कूल, कॉलेज, कंपनी, ऑफिस, बिजनेस, आदि हर जगह एमएस ऑफिस का इस्तेमाल किया जाता हैं। अगर आपको एमएस ऑफिस की अच्छी जानकारी है, तो आप इस आधार पर किसी कंपनी में जॉब भी प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के बारे में पूरी जानकारी होना सभी के लिए बहुत जरूरी है। अगर आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, तो अब इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको भी एमएस ऑफिस की पूरी जानकारी हो जाएगी। पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़िए। मुझे उम्मीद है पोस्ट पूरा पढ़ने के बाद आपको माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या है? - What is Microsoft Office in Hindi

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस दुनिया का सबसे प्रसिद्ध एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर है जिसे माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने बनाया है। इसे शॉर्ट में एमएस ऑफिस भी कहा जाता है। यह पूरे विश्व में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला सॉफ्टवेयर बन गया है। यह कई एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का संग्रह है। एमएस ऑफिस को मुख्य रूप से कमर्शियल यानी बिजनेस तथा ऑफिस में इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया है।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक ऐसा पैकेज है, जिसके द्वारा ऑफिस के सभी कार्य किए जा सकते हैं। हम जानते हैं ऑफिस में कई काम होते हैं जैसे - पत्र का प्रारूप तैयार करना, गणना करना, सुचित्रित कार्य, प्रस्तुतीकरण, डाटाबेस प्रबंधन, ईमेल, आदि। इन सभी कार्य को कंप्यूटर के माध्यम से करने के लिए सॉफ्टवेयर का पैकेज, माइक्रोसॉफ्ट ने तैयार किया है। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर नहीं है। यह एक क्षितिज समांतर मार्केट सॉफ्टवेयर है। - विकिपीडिया

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के मुख्य कंपोनेंट्स एमएस वर्ड, एमएस एक्सेल, एमएस पावरप्वाइंट, एमएस एक्सेस, एमएस आउटलुक, इत्यादि हैं। यह सभी एमएस ऑफिस पैकेज के मुख्य कंपोनेंट्स हैं, इनके अलावा और भी कई कंपोनेंट्स इसके पैकेज में शामिल होते है, जिसका उल्लेख इसी पोस्ट में नीचे की गई है।

आपको बता दें कि माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के मालिक बिल गेट्स (Bill Gates) दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं, जिन्होंने एमएस ऑफिस को अमेरिका के लास वेगास सहर में लॉन्च किया था। उस वक़्त एमएस ऑफिस को केवल 3 फीचर के साथ लॉन्च किया गया था -  एमएस वर्ड, एमएस एक्सेल और एमएस पावरप्वाइंट। इसका सबसे प्रसिद्ध होने वाला वर्जन 2007 था जिसका नाम MS Office 2007 था। आज भी कई सरकारी दफ्तर और ऑफिस में इस वर्जन का इस्तेमाल होता है।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का इतिहास

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के फाउंडर बिल गेट्स के द्वारा सन् 1990 में विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए लॉन्च किया गया था। जबकि इससे 1 वर्ष पूर्व माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को पहली बार 1989 में कंपनी द्वारा मैक ऑपरेटिंग सिस्टम (Mac-OS) के लिए शुरू किया गया था। एमएस ऑफिस को आज से 29 वर्ष पहले, 19 नवंबर 1990 में माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन के मालिक बिल गेट्स के द्वारा अमेरिका के लास वेगास (Las Vegas) सहर में लॉन्च किया गया था।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का पहला वर्जन MS Office 1.0 के नाम से उतारा गया था। इसके बाद इस सॉफ्टवेयर में लगातार नए अपडेट्स कंपनी द्वारा किया जाता रहा है। और साथ ही समय समय पर इसके नए वर्जन भी लाए गए। इसके नए वजन में फीचर्स के साथ साथ कंपोनेंट्स की संख्या में भी इजाफा किया गया। जिस कारण इसके पैकेज में कई सारे नए कंपोनेंट्स या प्रोग्राम्स को जोड़ा गया। विंडोज के लिए MS Office के निम्नलिखित वर्जन रिलीज किए गए :

YEAR VERSIONS
1990 MS Office 1.0
1992 MS Office 3.0
1995 MS Office 95
1997 MS Office 97
2000 MS Office 2000
2002 MS Office 2002
2003 MS Office 2003
2007 MS Office 2007
2010 MS Office 2010
2013 MS Office 2013
2016 MS Office 2016
2019 MS Office 2019

MS Office के इतिहास की एक नजर

1) एमएस ऑफिस के सबसे पहले वजन का नाम MS Office 1.0 रखा गया था। जो कि सन् 1990 में रिलीज किया गया था। जिसमें केवल 3 प्रोग्राम - Word, Excel और PowerPoint शामिल किए गए थे।
2) MS Access प्रोग्राम को पहली बार MS Office 4.3 वर्जन में जोड़ा गया था, जिसे सन् 1994 में रिलीज किया गया।
3) MS Outlook, MS FrontPage और MS Publisher को पहली बार MS Office 2000 के साथ जोड़ा गया, जिसे सन् 2000 में रिलीज किया गया।
4) MS InfoPath को पहली बार MS Office 2003 वर्जन में जोड़ा गया जिसे 2003 में रिलीज की गया। इस प्रोग्राम का प्रयोग Form Filling, Form Designing, Form Submitting, आदि कार्यों के लिए किया जाता है।
5) MS Office 2007 वर्जन सबसे ज्यादा लोकप्रिय होने वाला वर्जन हैं। इसमें कई बदलाव भी किए गए थे। इसमें Menu System को हटाकर नया interface लगा गया जिसे Ribbon System या Fluent User Interface कहते हैं। इसके अलावा इसमें File Menu को Office Button के साथ Replace कर दिया गया।

 READ MORE 
● इन्टरनेट क्या हैं? कैसे काम करता हैं?
● इन्टरनेट के उपयोग, महत्व और लाभ
● नेटवर्क सुरक्षा और डाटा सुरक्षा क्या हैं


माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के Components

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक Package / Suite सॉफ्टवेयर हैं। जिसके अंदर कई सारे Application Program होते हैं। जिसे Components कहते हैं। इसके 4 मुख्य प्रोग्राम Word, Excel, PowerPoint और Outlook हैं। इसके इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता हैं। चलिए इसके सभी कंपोनेंट्स को जानते हैं।

1) Microsoft Word 2) Microsoft Excel
3) Microsoft PowerPoint 4) Microsoft Access
5) Microsoft Outlook 6) Microsoft OneNote
7) Microsoft Publisher 8) Microsoft InfoPath Designer

1) Microsoft Word

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, वर्ड प्रोसेसिंग और डाटा प्रोसेसिंग प्रोग्राम हैं। जिसमें हम डाटा टाइप कर सकते हैं, और स्टोर कर सकत है। यह एमएस ऑफिस का सबसे लोकप्रिय प्रोग्राम हैं। इसमें text editing, typing, formatting, और printing, etc. Option मिलते हैं। MS Word का इस्तेमाल Document Create करने के लिए किया जाता है। जैसे लेटर लिखना, नोटिस, एप्लीकेशन, रिज्यूमे/सीवी, इन्विटेशन, आदि। इसमें क्रिएट किए गए डॉक्यूमेंट .doc फॉर्मेट में सेव होती हैं।

एमएस वर्ड का पहला वर्जन Charles Simonyi और Richard Brodie ने बनाया था। ये दोनों पहले Xerox के Programmers थे। इन्हें माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर Bill Gates और Paul Allen के 1981 में नियुक्ति किए थे। इसे पहली बार अक्टूबर 1983 में MS-Dos के लिए रिलीज किया गया। जिसका नाम Word 1.0 रखा गया था।

2) Microsoft Excel

या एक विंडोज आधारित स्प्रेडशीट प्रोग्राम है। इसमें फार्मूला का निर्माण करके एडिटिंग के द्वारा तुरंत परिणाम प्राप्त किया जा सकता है। एम एस एक्सेल में दूसरे प्रोग्रामों के डाटा तथा चित्रों को जोड़ा जा सकता है, और एक्सेल या उसके किसी भाग को वर्ड या पावर पॉइंट के डॉक्यूमेंट में शामिल किया जा सकता है। यह प्रोग्राम गणितीय गणनाऔं (Mathematical Calculations) तथा अंकिए डाटा के लिए उपयुक्त माना जाता है।

माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल सॉफ्टवेयर का कार्यस्थल, जो अनेक Cells का समूह हैं, जहां डाटा रखा तथा प्रोसेस किया जाता है, Worksheet या Spread Sheet कहलाता है। वर्कशीट Rows तथा Columns में बंटा होता है। डाटा में किसी भी तरह का परिवर्तन या प्रोसेस वर्कशीट में ही किया जा सकता है। प्रत्येक Cell में डाटा भरी जा सकती है, तथा उसे एडिट और फॉर्मेट भी किया जा सकता है।

3) Microsoft PowerPoint

माइक्रोसॉफ्ट पावर पॉइंट, एमएस ऑफिस का ही एक प्रोग्राम है। यह स्लाइडो के माध्यम से सूचनाओं के प्रस्तुतीकरण का एक सशक्त प्रोग्राम हैं। इस प्रोग्राम में स्लाइडों में टेक्स्ट, ध्वनि, चलचित्र, तथा एनिमेशन को भी जोड़ा जा सकता है। पावर पॉइंट में बने स्लाइड को वर्ड, एक्सेल, आदि प्रोग्राम में जोड़ा जा सकता है, और अन्य प्रोग्रामों की सूचना भी पावरप्वाइंट स्लाइड में दिखाया जा सकता है।

4) Microsoft Access

माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस, एमएस ऑफिस का डेटाबेस प्रोग्राम है जिसमें सारणी (Table) के रूप में डाटा को संग्रहित व व्यवस्थित किया जा सकता है। उन डाटा में परिवर्तन भी किया जा सकता है तथा रिपोर्ट और चार्ट तैयार किए जा सकते हैं। माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस डेटाबेस में कई सारणियों यानी टेबल्स में तैयार डाटा को एक साथ जोड़ा भी जा सकता है।

5) Microsoft Outlook

माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक, एमएस ऑफिस का ही एक प्रोग्राम है। यह एप्लीकेशन प्रोग्राम आपको एमएस ऑफिस सॉफ्टवेयर पैकेज के साथ मिलती है। इसका उपयोग मुख्य रूप से ईमेल करने के लिए किया जाता है। इसमें ईमेल प्राप्त कर सकते हैं और भेज भी सकते हैं। यानी माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक की मदद से कंप्यूटर सिस्टम में भी डायरेक्ट ईमेल send और रिसीव कर सकते हैं। एमएस आउटलुक में Synchronization का फीचर बी मिलता हैं, जिससे आप Real Time Email Receive कर सकत है।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के फायदे

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक कॉमर्शियल सॉफ्टवेयर है जिसे कंपनी, ऑफिस, बिजनेस इत्यादि क्षेत्रों में ज्यादा प्रयोग किया जाता है। इसे मुख्य रूप से कॉमर्शियल प्रयोग के लिए ही बनाया गया था। लेकिन आज हर क्षेत्र में एमएस ऑफिस का इस्तेमाल हो रहा है। इस सॉफ्टवेयर के कई फायदे भी है। चलिए सभी फायदे विस्तार से जानते हैं:

1) माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को हम पूरे Trust के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं। क्यूंकि यह दुनिया की सबसे लोकप्रिय और सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली सॉफ्टवेयर है।
2) एमएस ऑफिस एक Universal Software हैं जो सभी डिवाइस के लिए Compatible हैं। कंपनी ने हाल ही में Office Mobile भी लॉन्च कर दिया है, जिसे स्मार्टफोन और टैबलेट में आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता।
3) यह एक Complete Software Suite हैं जिसमें कई सारे अलग अलग प्रकार के प्रोग्राम्स शामिल हैं।
4) बिजनेस में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सॉफ्टवेयर Microsoft Office ही हैं। बिजनेस की जरूरत के सभी प्रोग्राम इसके suite में शामिल हैं।
5) एमएस ऑफिस को इस्तेमाल करना बहुत आसान है। इसके सभी प्रोग्राम User Friendly Interface के साथ आते हैं। जिस कारण इसे बहुत आसानी से उपयोग में लिया जा सकता है।
6) माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का इस सॉफ्टवेयर के साथ पूरा सपोर्ट भी दिया जाता है। कंपनी की तरफ से ऑनलाइन सपोर्ट मिलता है। किसी प्रकार की समस्या होने पाएं, ऑनलाइन कंपनी के Executive से मदद मिल जाति हैं।
7) यह Multipurpose Software हैं, जिसमें आप सभी कार्य कर सकते हैं। जैसे - Word पर CV बना सकते हैं, Cover Letter लिख सकते हैं। Excel पर बिजनेस डाटा को Analysis कर सकते है। PowerPoint पर Presentation बना सकते हैं। Outlook पर ईमेल मैसेंजिंग कर सकते हैं, इत्यादि।
8) एमएस ऑफिस की सिक्योरिटी बहुत ही High Level की है। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की तरफ से MS Office को लेकर पूरी सिक्योरिटी की Responsibility ली गई है।
9) अगर आपको  एमएस ऑफिस की पूरी Knowledge हैं, तो आप इस आधार पर किसी कंपनी में आसानी से जॉब भी प्राप्त कर सकते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को डाउनलोड और इंस्टॉल कैसे करें

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले Microsoft की आधिकारिक वेबसाइट - microsoft.com पर जाना है। और उसके बाद आप यहां से इसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। आपको बता दें, की डाउनलोड करने पर आप इसे 30 दोनों के लिए Trail में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बाद आपको इसे खरीदना होगा। एमएस ऑफिस एक Paid सॉफ्टवेयर हैं। इसे आप ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।

अगर आप एमएस ऑफिस को फ्री में इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आप इसे अपने किसी दोस्त से पेन ड्राइव के जरिए ले सकते हैं। या फिर अपने नजदीकी किसी कंप्यूटर के दुकान से भी सस्ते में (₹50 या ₹100) अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में इनस्टॉल करवा सकते हैं। या फिर इंटरनेट के जरिए किसी दूसरी वेबसाइट से Crack वर्जन डाउनलोड कर सकते हैं।

पर में आपको बिलकुल भी Recommend नहीं करूंगा, कि आप किसी भी सॉफ्टवेयर को Crack या Keygen के जरिए इनस्टॉल करें। इससे आपके कंप्यूटर या लैपटॉप में वायरस प्रवेश कर सकते हैं। और इस प्रकार के सॉफ्टवेयर से आपके PC की सिक्योरिटी भी खराब होती है। इसलिए में आपको कहूंगा की आप कोई भी सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो उसका Original और Genuine Setup ही इनस्टॉल करें।

 READ MORE 
● ऑपरेटिंग सिस्टम क्या हैं? OS की पूरी जानकरी
● विंडोज क्या हैं? कितने प्रकार की होती हैं?

1) microsoft.com की वेबसाइट पर जाएं।
2) यहां से एमएस ऑफिस 2019 या 365 डाउनलोड कर सकते है। जो माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का लेटेस्ट वर्जन हैं। अगर आप इसे खरीदना चाहते हैं, तो Buy Now पर क्लिक करके खरीद सकते हैं।अन्यथा इसका Trail Version डाउनलोड कर सकते हैं।
3) डाउनलोड हो जाने के बाद, इसे आप WinRAR के जरिए Extract करिए।
4) उसके बाद, MS Office 2019 के फोल्डर को ओपन करें, और Setup पर माउस से Right Click करें।
5) अब आपको कई सारे ऑप्शन नजर आ रहे होंगे, जिसमें से आपको Run as Administrator पर क्लिक करें।
6) अब विंडोज की तरफ से User Account Control की एक छोटी सी विंडो ओपन होगी, जिसमें आपको Yes पर क्लिक करना हैं।
7) अब इसके बाद, Setup इनस्टॉल होने की फर्स्ट विंडो पेज खुलेगा, जिसे आपको पढ़कर Next करना हैं। इसके बाद कई सारी विंडो खुलेगी। जिसमें आपको अपने अनुसार Next करना हैं।
8) इनस्टॉल होने में समय कर सकती हैं, इसलिए आप Wait करें। जबतक installation Complete नहीं हो जाता। इसमें 20 से 30 मिनट लग सकता है।
9) Installation complete हो जाने के बाद, अपने सिस्टम को एक बार रीस्टार्ट जरूर करें। जिसके बाद आप एमएस ऑफिस को इस्तेमाल कर सकत हैं।

इसके अलावा, एमएस ऑफिस को आप Microsoft Store से भी डाउनलोड कर सकते हैं। अगर आपके कंप्यूटर या लैपटॉप में विंडोज 8, या 10 हैं तो आप एमएस ऑफिस को माइक्रोसाफ्ट स्टोर से भी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले, Microsoft Store को ओपन करना हैं। उसके बाद, अगर आप लॉगिन नहीं है, तो पहले माइक्रोसाफ्ट अकाउंट से लॉगिन करें।

लॉगिन होने के बाद, सबसे ऊपर सर्च बॉक्स में MS Office टाइप करके सर्च करें। जिसके बाद सर्च रिजल्ट में आपको MS Office नजर आयेगा। उस पर क्लिक करें और Download & Install बटन पर क्लिक करके इसे Installing पर लगा दें। इनस्टॉल होने में समय लग सकता है। यह आपके इंटरनेट की स्पीड पर निर्भर करता है। इनस्टॉल होने के बाद, आपको नोटिफिकेशन के जरिए सूचित कर दिया जाता हैं। जिसके बाद आप इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

Conclusion

तो दोस्तों, अब आप माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के बारे में जान गए होंगे। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या है, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का इतिहास, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के Components, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के फायदे,माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को डाउनलोड और इंस्टॉल कैसे करें, इत्यादि। उम्मीद करता हूँ कि आपको पोस्ट पसंद आई होगी। और मेरे बताये गए सभी बाते आपको समझ में भी आ गयी होंगी। अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें। इसके अलावा THG को Follow करके सभी नए पोस्ट की जानकारी लगातार प्राप्त कर सकते है। 
Thanks / धन्यवाद 

सम्बंधित पोस्ट :

tech hindi gyan logo
माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या हैं - What is Microsoft Office in Hindi - पूरी जानकारी माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या हैं - What is Microsoft Office in Hindi - पूरी जानकारी Reviewed by Altamaz Ahmed on Monday, January 20, 2020 Rating: 5

No comments:

We Request to all our Lovely Viewers & Readers, Please do not put any kind of Links in the Comments.

हम अपने सभी प्यारे दर्शकों और पाठकों से अनुरोध करते हैं, कृपया टिप्पणियों में किसी भी प्रकार के लिंक न डालें।

Powered by Blogger.