SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

SEO Friendly Article Kaise Likhe? आज हम इस आर्टिकल में आपको इसकी पूरी जानकारी दे रहे हैं। SEO फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखें? और सर्च इंजन के टॉप पर आर्टिकल को कैसे रैंक कराए? 

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

अगर आप अपने ब्लॉग के सभी आर्टिकल को सर्च इंजन के टॉप पर रैंक कराना चाहते हैं तो इसके लिए आपको SEO Friendly Article लिखने होंगे।

SEO Friendly Article लिखने का मुख्य उद्देश्य, ब्लॉग आर्टिकल को सर्च इंजन के अनुसार optimize करना है। जिससे सर्च इंजन आपके कंटेंट को आसानी से समझ सकें और रैंक कर सकें।


SEO Friendly Article कैसे लिखें?

SEO फ्रेंडली आर्टिकल वो आर्टिकल होता हैं, जिसे हम सर्च इंजन के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ करते हैं ताकि हमारा आर्टिकल सर्च इंजन के टॉप पर रैंक कर सकें।

Starting के समय में सभी के लिए आर्टिकल लिखना थोड़ा मुश्किल होता है, और ऐसे में SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना तो और भी ज्यादा चुनौती भरा काम हैं।

लेकिन इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना सीख जायेंगे। क्यूंकि यहां पर हम इसके बारे में 20+ Tips आपके साथ शेयर कर रहें हैं। 

इन सभी टिप्स को फॉलो करके आप आसानी से SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिख सकते हैं। तो चलिए जानते हैं 20+ Tips SEO Friendly Article कैसे लिखें


1) Keyword Research

जब भी आप आर्टिकल लिखने की सोचे, तो उससे पहले टॉपिक और कीवर्ड्स का proper और अच्छे तरीके से research करें। आर्टिकल लिखने से पहले आपको टॉपिक पता करना होगा कि आप किस टॉपिक पर आर्टिकल लिखना चाहते हैं। 

टॉपिक पता करने के बाद आपको उस टॉपिक से रिलेटेड कीवर्ड रिसर्च करना हैं। अगर आप बिना keyword research के आर्टिकल लिखेंगे तो उस आर्टिकल को आप ऑप्टिमाइज़ नहीं कर सकते।

अगर आप अपने आर्टिकल को सर्च इंजन के टॉप पर रैंक कराना चाहते हैं तो आपको आर्टिकल लिखने से पहले keyword research करना होगा।

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

आप अपने आर्टिकल में keywords का जितना बेहतर तरीके से इस्तेमाल करेंगे, उतना आपके आर्टिकल के कंटेंट की क्वालिटी बेहतर होगी। पर आपका आर्टिकल उतना ही ज्यादा ऑप्टिमाइज हो पाएगा।

ज्यादातर नए ब्लॉगर कीवर्ड रिसर्च को पूरी तरह से नजरअंदाज करते हैं, और इसको जरूरी नहीं समझते जो कि उनकी सबसे बड़ी गलती है। आप बिना कीवर्ड के किसी भी आर्टिकल को रैंक नहीं करा सकते। इसलिए कीवर्ड रिसर्च करना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है।

2) Keyword in Title

अपने आर्टिकल का main keyword टाइटल में जरूर रखें। और कोशिश करें कि टाइटल के शुरू में ही कीवर्ड का इस्तेमाल करें। इससे आप का टाइटल सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज हो जाएगा।

टाइटल में power words का इस्तेमाल करें जैसे - top, best, instant, fast, quick, powerful, amazing, ultimate, extreme,etc. इसके अलावा नंबर का भी इस्तेमाल करें जैसे - top 10, 11+, 20+, 51+, 101+ best, etc. 

Title की length 60 - 70 characters से ज्यादा मत रखें। हमेशा टाइटल इस तरह से लिखे कि यूजर देखते ही अट्रैक्ट हो जाए और वह क्लिक करने पर मजबूर हो जाए।

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips, seo friendly title

SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखने के लिए आपको अपने आर्टिकल के टाइटल पर कीवर्ड का इस्तेमाल करना होगा। हमेशा long tail keyword यूज करें और short tail keyword का इस्तेमाल करने से बचें।


3) Use Keyword in First & Last Paragraph

अगर आप चाहते हैं कि आपका आर्टिकल सर्च इंजन के टॉप पर रैंक करें तो इसके लिए आपको टाइटल के साथ साथ अपने कंटेंट के पहली और आखिरी पैराग्राफ में भी कीवर्ड ऐड करना होगा।

लेकिन इस बात का भी आपको खास ध्यान रखना है कि आप अपने कीवर्ड को natural तरीके से लिखें। केवट को जानबूझकर अपने कंटेंट में बार-बार ना लिखें। 

ये गूगल के गाइडलाइंस के खिलाफ है। इससे आपके ब्लॉग का सर्च इंजन के नजर में negative impact पढ़ता है। इसलिए जानबूझकर कीवर्ड का इस्तेमाल बार बार मत करें।

4) Keyword in Heading & Subheadings (H2, H3, H4)

आपको अपने आर्टिकल में टाइटल के अलावा heading और subheadings का भी प्रॉपर तरीके से इस्तेमाल करना हैं। आपको बता दें कि ब्लाक के सभी आर्टिकल में टाइटल के साथ-साथ heading और subheadings पर भी ध्यान देना जरूरी होता है।

जैसा की आपको पता होगा कि आर्टिकल का title (h1), heading (h2) और subheadings (h3, h4) tag में होता है। जिस तरह से टाइटल का seo friendly होना जरूरी है ठीक उसी तरह heading और subheadings का भी seo friendly होना बहुत जरूरी है।

इसलिए आपको अपने आर्टिकल के title के साथ साथ heading और subheadings में भी keyword का इस्तेमाल करना होगा। 

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

ज्यादातर रीडर्स आर्टिकल में हेडिंग और सब-हेडिंग ही पढ़ते हैं और बहुत कम रीडर्स होते हैं जो बाकी कंटेंट को पढ़ते हैं। ऐसे में अगर आप चाहते हैं, कि रीडर्स आपके पूरे कंटेंट को पढ़ें तो आपको seo friendly के साथ साथ catchy heading और subheading लिखना होगा।

इसलिए इसमें आपको कीवर्ड्स का इस्तेमाल करना होगा। और कोशिश करें कि हेडिंग के शुरुआत में ही कीवर्ड रखें। इससे आर्टिकल का seo और भी ज्यादा बेहतर होता है।

5) Keyword in Permalink

आप अपने आर्टिकल का लिंक बनाएंगे यानी कि permalink बनाएंगे तो उसमें भी आपको अपने टॉपिक का main keyword add करना हैं। 

आपको अपने आर्टिकल के permalink को भी सर्च इंजन के अनुसार ऑप्टिमाइज करना होगा। अगर आप permalink में कुछ भी लिख देंगे तो सर्च इंजन में आपका आर्टिकल रैंक नहीं कर पाएगा।

इसलिए आप जब भी आर्टिकल लिखें तो उसके permalink में भी keyword जरूर लिखें। और हमेशा permalink short रखें। 

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

आप अपने आर्टिकल के permalink मैं लिखे गए शब्दों को अलग करने के लिए space का इस्तेमाल नहीं कर सकते, इसलिए यहां पर आपको high pin (-) का उपयोग करना होगा शब्दों को अलग करने के लिए। 


6) Keyword in Meta Description

Meta Description आपके आर्टिकल के कंटेंट का एक brief overview होता है जो विजिटर्स को आपके आर्टिकल पर क्लिक करने के लिए मजबूर करता है।

अगर आप चाहते हैं कि आपके आर्टिकल पर ज्यादा व्यूज आए, तो इसके लिए आपको अपने टाइटल के साथ साथ मेटा डिस्क्रिप्शन पर भी ज्यादा ध्यान देना होगा और इसे ऑप्टिमाइज करना होगा।

मेटा डिस्क्रिप्शन को बेहतर तरीके से ऑप्टिमाइज करने के लिए आपको अपने आर्टिकल के टाइटल का मेन कीवर्ड और फोकस कीवर्ड का उपयोग करना होगा।

अगर आप मेटा डिस्क्रिप्शन में टारगेटेड कीवर्ड और रिलेटेड कीवर्ड इस्तेमाल करते हैं तो आपका आर्टिकल सर्च इंजन के टॉप पर रहे हो सकता है। और सर्च रिजल्ट में वो कीवर्ड bold हो जाते हैं, जो विजिटर्स का ध्यान आकर्षित करते हैं।

7) Use LSI Keywords

आर्टिकल लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च जरूर करें। और एक कीवर्ड को चुनकर उस कीवर्ड के रिलेटेड कीवर्ड्स को ढूंढे, और अपने आर्टिकल में इस्तेमाल करें। इसे LSI Keyword कहते हैं। 

यानी कि टॉपिक से related keyword या similar keyword को LSI Keyword कहते हैं। शायद आपको पता हो, कि आप जो भी आर्टिकल लिखते हैं वह केवल आपके टारगेटेड कीवर्ड पर ही रैंक नहीं होता बल्कि उससे रिलेटेड दूसरे कीवर्ड पर भी रैंक करता है।

SEO Friendly Article Kaise Likhe,

इसलिए आप जब भी आर्टिकल लिखे तो उसमें केवल टारगेटेड कीवर्ड ही नहीं बल्कि साथ में उससे रिलेटेड कीवर्ड यानी की LSI Keyword भी जरूर यूज़ करें।

LSI Keyword find करने के लिए इंटरनेट पर आपको बहुत सारे टूल मिल जाएंगे। मैं आपके साथ कुछ LSI Keyword Finder Tool शेयर करे रहा हूं।

  • Google Keyword Planner
  • Ubersuggest
  • Ahrefs Keyword Explorer
  • SEMrush
  • LSI Graph
  • Keyword Everywhere, etc.


8) Use Images Alt Tag

आर्टिकल में इस्तेमाल होने वाले इमेजेस पर "Attribution Tag" जरूर लगाएं। Alt Tag का यूज करने से आपका आर्टिकल गूगल सर्च के साथ साथ गूगल इमेजेस पर भी रैंक करेगी।

आप अपने सभी आर्टिकल में कम से कम एक क्वालिटी इमेज जरूर ऐड करें। और उस इमेज को सर्च इंजन के अनुसार fully optimize भी जरूर करें। Image Optimization के लिए आप इन steps को फॉलो करें :

  • Image अपलोड करने से पहले, उसे rename जरूर करें।
  • इमेज compress करने के बाद ही अपलोड करें।
  • इमेज की साइज under 50kb रखने की कोशिश करें।
  • High quality images का इस्तेमाल करें। 
  • Image Compress करें, पर क्वालिटी पर ही focus होना चाहिए।
  • हमेशा Alt Tag का use करें।
  • Image rename करते वक़्त, उसमे space की जगह high pin (-) का इस्तेमाल करें। जैसे - seo-friendly-article-kaise-likhen.jpg


9) Internal Linking of Related Articles

अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपने bounce rate का नाम जरूर सुना होगा। अगर आपके ब्लॉग कि bounce rate ज्यादा हैं, तो ये आपके ब्लॉग की रैंकिंग को बिगाड़ सकता है।

Readers आपके ब्लॉग पर जितनी ज्यादा देर तक रहेगा, आपके ब्लॉग की bounce rate उतना ही कम होगा। इसलिए आपको अपने आर्टिकल्स में पिछले आर्टिकल के लिंक add करना होगा।

लेकिन अगर आप reader को ज्यादा समय तक अपने ब्लॉग पर रोके रखना चाहते हैं, तो अपने आर्टिकल से रिलेटेड पिछले आर्टिकल के लिंक ऐड करें।

ऐसा करने से आपके ब्लॉग का बाउंस रेट कम होता है और विजिटर आपके ब्लॉग पर लंबे समय तक आर्टिकल पड़ते हैं।

ऐसा करने से सर्च इंजन में आपके ब्लॉग की value increase होती है। इसलिए एक जैसे टॉपिक से रिलेटेड आर्टिकल्स को एक दूसरे के साथ जोड़े और अपने आर्टिकल को seo friendly बनाए।

10) External Linking of Related High Quality Sites

बहुत से ब्लॉगर यह सोचते हैं कि, हम दूसरे की साइट का लिंक अपने ब्लॉग पर क्यों दें? पर उन्हें यह नहीं पता कि ऐसा करने से उनके ब्लॉग को बहुत ज्यादा फायदा होता है।

अगर आप top authority high quality sites का लिंक अपने ब्लॉग आर्टिकल के देते हैं, तो सर्च इंजन आपके साइट को ऊपर लेकर आता है।

क्यूंकि ऐसा करना इस बात को दर्शाता हैं कि आपने अपने आर्टिकल में विभिन्न सोर्स की मदद से एक शानदार जानकारी प्रदान की है। और ऐसा करने से आपके आर्टिकल की वैल्यू सर्च इंजन की नजरों में बढ़ जाती है।

लेकिन आप सिर्फ उन्हीं वेबसाइट के लिंक को अपने ब्लॉग आर्टिकल में ऐड करें जो सर्च इंजन में पॉपुलर हो और साथ ही जिनका DA - PA high हो। जैसे - विकिपीडिया, आदि।

11) Article Write in Short Paragraphs

आप अपने आर्टिकल को छोटे छोटे पैराग्राफ में लिखें। ज्यादा लंबे लंबे पैराग्राफ लिखने से बचें। क्योंकि ज्यादा लंबे पैराग्राफ होने से reader bor होने लगता है और साइट से बाहर निकाल जाता हैं।

आप बताइए, अगर आपको एक पेज दिया जाए, जिसमें एक ही पैराग्राफ से पूरा पन्ना भरा हो, तो क्या आपको पढ़ने का मन करेगा। बिल्कुल नहीं करेगा।

वहीं अगर, उसी पन्ने पर लिखा हुआ कंटेंट 10 छोटे छोटे पैराग्राफ में लिखा हो, तो आप आसानी से पढ़ लेंगे। और आपका मन भी लगेगा पढ़ने में।

इसलिए हमेशा आर्टिकल छोटे-छोटे पैराग्राफ में लिखें। एक पैराग्राफ को केवल 3 लाइन में समाप्त कर दें। और अगर 3 से ज्यादा हो रही हो, तो ज्यादा से ज्यादा 4 लाइन का पैराग्राफ रखें। इससे ज्यादा हरगिज़ मत करें।


12) Don't Do Keyword Stuffing

Keyword Stuffing का मतलब होता है, किसी कीवर्ड को जानबूझ कर अपने आर्टिकल में बार बार लिखना। अगर आप ऐसा करते हैं तो समझ लीजिए कि आपका आर्टिकल सर्च इंजन के फर्स्ट पेज पर कभी रैंक नहीं कर पाएगी।

अगर आप सोचते हैं कि जरूरत से ज्यादा कीवर्ड लिखने से आपके ब्लॉग की सर्च रैंकिंग को boost मिलेगी, तो आप बिल्कुल ग़लत हैं। इससे आपकी कंटेंट की रैंकिंग और भी कम हो जाती है।

Keyword Stuffing करने से आपका आर्टिकल spam, unnatural और useless बन जाता है। आप अपने आर्टिकल में keyword की density 0.5% से 1.5% रखें।

Keyword Stuffing के बारे में ज्यादा जानने के लिए google webmaster की guidlines को आप पढ़ सकते हैं। 


13) Write High Quality Content

अगर आपके कंटेंट में जान है, तो आज नहीं तो कल आपका कंटेंट सर्च इंजन के टॉप पर रैंक जरूर करेगा, और उस कंटेंट से आपको ट्रैफिक भी मिलेगी।

"Content is the King" ये आप जरूर सुने होंगे। ब्लॉगिंग में कंटेंट ही सब कुछ होता है। अगर आप ब्लॉगिंग में सक्सेस पाना चाहते हो तो आपको high quality content लिखना आना चाहिए।

कंटेंट हमेशा यूजर को ध्यान में रखकर लिखना चाहिए। कंटेंट इस तरह से लिखे कि यूजर उसे पढ़ने के बाद यह सोचे कि जो मुझे चाहिए था वह मिल गया।

High Quality Content कैसे लिखें? इसपर हमने पहले ही एक detail article लिखा हुआ हैं, जिसमें हमने step by step detail में समझाया हैं। आप इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें।


14) Write Content in Depth

कोई भी यूजर हमेशा यही चाहेगा कि वह जिस भी साइट पर आर्टिकल पढ़े वहां पर उसे उस टॉपिक पर पूरी जानकारी मिल जाए। तो सबसे पहले आप ये समझ लीजिए कि आप जिस भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखें उसके बारे में फुल इनफार्मेशन उस आर्टिकल में दें।

अगर यूजर्स आपके आर्टिकल से बाहर निकलकर दूसरे साइट के आर्टिकल पर जाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपके कंटेंट में in-depth information नहीं हैं।

इससे सर्च इंजन पर आपके साइड का बहुत ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता हैं। और आपके आर्टिकल्स की रैंकिंग भी गिर सकती है। इसलिए हमेशा in-depth content लिखने की आदत बना लें।

In-Depth Content का मतलब है कि आप जिस भी टॉपिक को लिखें उससे संबंधित जितनी भी जरूरी जानकारी हो, उन सभी के बारे में बताएं। इसके अलावा उस टॉपिक से रिलेटेड जरूरी QnA भी अपने आर्टिकल में शामिल करें।

अपने आर्टिकल की length कम से कम 2000 words का जरूर रखें। हमेशा लंबे कंटेंट लिखने की सोचें। अगर आप लंबे कंटेंट लिखेंगे तो किसी भी टॉपिक को आसानी से in-depth cover कर सकते हैं।

लेकिन लंबे कंटेंट का लोग गलत मतलब निकालते हैं। लोग आर्टिकल की लंबाई बढ़ाने के लिए उसमें फिजूल के वर्ल्डस और कहानी लिखने लगते हैं। जबकि आपको ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना है।

लंबे आर्टिकल लिखने का मतलब हरगिज़ यह नहीं है कि आप फालतू की चीजें बढ़ा चढ़ाकर लिखे इसे रीडर्स परेशान होते हैं और वह आपके साइड में दोबारा विजिट करना पसंद नहीं करते।

आर्टिकल में केवल टॉपिक से संबंधित जानकारी लिखें। अपना एक्सपीरियंस शेयर करें और सभी इंफॉर्मेशन सीधे और आसान शब्दों में बताएं। अपने बातों को बिल्कुल सटीक और सिंपल रखें।

गूगल भी लंबे कंटेंट और in-depth कंटेंट को ही पसंद करता हैं। इसलिए आर्टिकल लिखते समय इस बात का खास ध्यान रखें।


15) Do Proper On Page SEO

आर्टिकल लिखते समय आपको प्रॉपर और कंप्लीट on-page SEO करना होगा। अगर आप चाहते हैं आपका आर्टिकल ज्यादा से ज्यादा यूजर्स तक पहुंचे तो इसके लिए आपको On-Page SEO पर काम करना होगा। 

आपको अपने आर्टिकल में हाई क्वालिटी कंटेंट देना है ,और एक हाई क्वालिटी कंटेंट वही होता है जो रीडर्स के साथ-साथ सर्च इंजन के लिए भी  fully optimized हो। जिससे कि आपका कंटेंट सर्च इंजन पर भी रैंक कर सके और ज्यादा से ज्यादा यूजर्स तक पहुंच सके।

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

आर्टिकल लिखते समय उस पेज पर आप जो भी optimization करते हैं, उसे on-page SEO कहते हैं। जैसे - title, meta description, keywords, permalink image alt tag h1 h2 h3 interlinking etc.


16) Create Original & Unique Content

आर्टिकल हमेशा ओरिजिनल और यूनिक होना चाहिए इस बात का आप को सबसे ज्यादा ध्यान रखना है। आप जब भी आर्टिकल लिखे तो उसमें अपनी ideas और एक्सपीरियंस शेयर करें। कभी किसी का एक वर्ड भी कॉपी ना करें।

आपको बता दें कि गूगल और other सर्च इंजन भी ओरिजिनल और यूनीक कंटेंट को पसंद करते हैं और उन्हीं को रैंक भी करते हैं। तो अगर आप चाहते हैं, कि आपका कंटेंट भी सर्च इंजन के टॉप पर रैंक करें, तो आपको हमेशा ओरिजिनल और यूनीक कंटेंट ही लिखना होगा।

आप जब भी आर्टिकल लिखें तो उससे पहले उस आर्टिकल के बारे में अच्छे से रिसर्च करें और जानकारी हासिल करें। आप सर्च इंजन के जरिए टॉप रैंक आर्टिकल्स को पढ़कर उन्हें एनालाइज कर सकते हैं और वहां से आइडिया ले सकते हैं।

लेकिन किसी का भी कंटेंट कभी भी कॉपी करने का बिल्कुल भी मत सोचें। बल्कि उनसे बेहतर लिखने की कोशिश करें। और कंटेंट बिल्कुल ओरिजिनल और यूनिक रखें। 


17) Use Quality Images

आपको अपने आर्टिकल में कम से कम एक इमेज का इस्तेमाल जरूर करना है। और वो भी क्वालिटी इमेज होनी चाहिए। आर्टिकल में इमेजेस के होने से ट्राफिक में boost मिलता है।

इमेजेस यूज करने से आपके आर्टिकल्स को बहुत ज्यादा फायदा होगा। इससे आपका आर्टिकल गूगल सर्च इंजन के साथ-साथ गूगल इमेजेस में भी रैंक करेगी। और इससे ट्रैफिक इंक्रीज होगी।

आप शायद जानते ही होंगे कि, एक इमेज हजार शब्दों के बराबर होता है इसलिए कम से कम एक इमेज अपने आर्टिकल में जरूर यूज़ करें। गूगल भी इमेज को सबसे ऊपर रखता हैं और पहली priority देता है।

किसी भी इमेज को अपने आर्टिकल में अपलोड करने से पहले fully optimize और compress जरूर करें। ताकि आपका इमेज क्वालिटी इमेज बन सकें।

अपने हर आर्टिकल में एक फीचर इमेज का इस्तेमाल तो आप करेंगे ही लेकिन साथ ही साथ कंटेंट से रिलेटेड जरूरी स्क्रीनशॉट भी शेयर करें। पर सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही ज्यादा इमेजेस यूज करें, बेफिजूल या बिना मतलब के इमेजेस मत अपलोड करें।

इमेजेस भी ओरिजिनल और यूनिक होनी चाहिए। इसलिए हमेशा अपनी खुद की बनाई हुई इमेज इस्तेमाल करें। कभी किसी दूसरे की इमेज कॉपी मत करें। अगर आप beginner है तो आप canva से फ्री इमेज बना सकते हैं।


18) Use Video

आपको अपने आर्टिकल्स में हर फॉर्मेट के कंटेंट को ऐड करना होगा। फिर चाहे वह text हो images हो या video हो। इससे आपका आर्टिकल ज्यादा engaging बन जाता हैं।

वीडियो बनाने के लिए आपको अलग से कोई gadgets खरीदने की या पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है। और ना ही आपको कोई एक्सपेंसिव कैमरा लेने की जरूरत है। आप अपने मोबाइल से ही वीडियो बनाकर अपने ब्लॉग में अपलोड कर सकते हैं।

वीडियो आप डायरेक्टली अपने ब्लॉग पर अपलोड कर सकते हैं या फिर यूट्यूब से embed भी कर सकते हैं। अगर आपका यूट्यूब चैनल भी है तो यह आपके लिए बोनस प्वाइंट होगा।

और अगर आप वीडियो नहीं बनाना चाहते और आपका यूट्यूब चैनल भी नहीं है, तो आप यूट्यूब से उस टॉपिक की वीडियो को सर्च करके ऐड कर सकते हैं। लेकिन नीचे उस वीडियो की source और शार्ट डिटेल जरूर लिख दे।


19) Don't Do Grammar Mistakes

नए ब्लॉगर अक्सर यह गलती करते हैं। जल्दी-जल्दी आर्टिकल पब्लिश करने के चक्कर में अक्सर यह गलती बहुत से ब्लॉगर करते हैं। आप जब भी आर्टिकल लिखें तो बहुत ही इत्मीनान से लिखें। जल्दबाजी बिल्कुल मत करें।

आर्टिकल में grammer mistakes और spelling mistakes होने से ब्लॉग की रैंकिंग पर बुरा प्रभाव पढ़ता हैं। ऐसे में ब्लॉग की SEO भी down होती है।

आर्टिकल में spelling mistake बिल्कुल मत करें। आर्टिकल पब्लिश करने से पहले पूरे आर्टिकल को खुद अच्छे से पढ़ें, और उसमे होने वाली सभी गलतियों को सुधारे।

अगर आर्टिकल लिखते वक्त कोई गलती होती है तो आपका ब्राउज़र उस पर रेड लाइन से मार्क कर देता है, जिससे आपको पता चल जाता है कि spelling mistake हैं। और आप उसे सुधार सकते हैं।


20) Bold Important Words & Related Keywords

आप अपने आर्टिकल में सभी जरूरी शब्द और कीवर्ड को बोल्ड जरूर करें। इससे आपका आर्टिकल और भी ज्यादा attractive दिखता है।

आप अपने आर्टिकल में कुछ जरूरी वर्ड और फोकस कीबोर्ड को बोल्ड कर दीजिए। इससे भी आपकी आर्टिकल में काफी ज्यादा फर्क पड़ेगा। 

लेकिन एक बात का खास ध्यान रखें कि आप रैंकिंग के लिए किसी भी वर्ड को या कीवर्ड को अपने आर्टिकल के सेंटेंस में बार-बार मत लिखें। इससे रीडर को आपका आर्टिकल बोरिंग लगेगा और SEO भी खराब होता है।


21) Always Focus on Reader Not Business

अगर आप चाहते हैं कि आपका आर्टिकल सर्च इंजन के टॉप पर रैंक हो और ज्यादा CTR मिले तो आपको हमेशा अपने रीडर्स को ध्यान में रखकर आर्टिकल लिखना होगा। 

सबसे पहले आपको यह पता करना हैं कि आपके रीडर्स को क्या चाहिए? वो क्या तलाश रहे हैं? फिर उनके अनुसार आर्टिकल लिखें। हमेशा अपने Audience को focus करते हुए ही आर्टिकल लिखें, ना की अपने बिजनेस को।

SEO Friendly Article Kaise Likhe - 20+ Tips [Updated 2020]

अगर आप आर्टिकल सिर्फ सर्च इंजन पर रैंक करने के लिए लिख रहे हैैं, तो आप इस बात को समझ लीजिए कि इस तरह से आपका आर्टिकल कभी भी रैंक नहीं करेगा। गूगल सर्च इंजन का एल्गोरिथम इस तरह से काम नहीं करता है।

सबसे पहले अपने रीडर्स के बारे में जाने, उन्हें क्या पसंद है? वह क्या चाहते हैं? उनके साथ कनेक्शन बिल्ड करें। और अपने हर आर्टिकल में यूजर से फीडबैक देने को जरूर रहे।

और आपको बता दें कि, गूगल के क्वालिटी गाइडलाइंस में यह साफ लिखा हुआ है, कि आप हमेशा पेजेस और पोस्ट को सर्च इंजन के लिए नहीं बल्कि यूजर्स को ध्यान में रखते हुए लिखें।

 Read More 

तो दोस्तों, अब आप सीख गए होंगे SEO Friendly Article Kaise Likhte Hai? उम्मीद करता हूँ कि आपको पोस्ट पसंद आई होगी। और मेरे बताये गए सभी बाते आपको समझ में भी आ गयी होंगी। 

अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है। पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें। 

इसके अलावा टेक हिन्दी ज्ञान को Follow करके सभी नए आर्टिकल की जानकारी लगातार प्राप्त कर सकते है।

Thanks / धन्यवाद 

सम्बंधित पोस्ट :

tech hindi gyan logo

3 comments:

We Request to all our Lovely Viewers & Readers, Please do not put any kind of Links in the Comments. Otherwise will not be approved !!!

हम अपने सभी प्यारे दर्शकों और पाठकों से अनुरोध करते हैं, कृपया टिप्पणियों में किसी भी प्रकार के लिंक न डालें। अन्यथा मंजूर नहीं किया जायेगा !!!

Powered by Blogger.